ज्ञानसागर ब्लॉग में आपका हार्दिक अभिनंदन है !! किसी भी सुझाव,विचार,विमर्श के लिए संपर्क करे 8802939520

Header Ads



मूलांक 3 का विश्लेषण : ज्योतिष ज्ञानसागर | Gyansagar ( ज्ञानसागर )


मूलांक 3 का विश्लेषण : ज्योतिष ज्ञानसागर



मूलांक 3 का विश्लेषण : ज्योतिष ज्ञानसागर

मूलांक तीन अंक शास्त्र का एक प्रभावशाली मूलांक है। मूलांक तीन के अधिष्ठाता ग्रह बृहस्पति हैं अत: मूलांक तीन के व्यक्तियों पर गुरू ग्रह का बहुत प्रभाव होता है. पाश्चात्य ज्योतिष अनुसार भी इस मूलांक के जातक गुरु (बृहस्पति) के प्रभाव से युक्त रहते हैं मूलांक तीन को त्रिभुज का परिचायक माना जाता है, इसे बल, चेतना एवं पदार्थ पर नियंत्रण करने वाला माना गया है। मूलांक 3 मानसिक क्षमता व विवेक का कार्य करने वाला होता है. मूलांक 3 साहस, नेतृत्व के गुणों से युक्त एवं महत्वाकांक्षा से भरपूर होता है। जिनका जन्म किसी भी महीने की 3, 12, 21, या 30 तारीख़ को हुआ हो ,उनका मुलांक 3 होता है

मूलांक 3 की विशेषताएँ 

मूलांक तीन के व्यक्तियों में महत्वाकांक्षी प्रवृत्ति, शासन करने की चाह, अनुशासन की योग्यता जैसे स्वभाविक गुण होते हैं. मूलांक तीन से प्रभावित लोग रक्षा, राजकीय, प्रशासनिक, पदाधिकारी अथवा किसी भी विभाग का अध्यक्ष हो सकते हैं

मूलांक 3 वाले व्यक्ति सदा स्पष्टवादी स्वभाव के होते हैं, यह अपने कार्यों को लेकर सचेत रहते हैं और किसी भी भ्रांति से स्वयं को दूर रखने का प्रयास करते हैं मूलांक तीन अपने कार्यों में शिथिलता नहीं आने देता है

मूलांक तीन वालों में विचारों का स्पष्ट अनुमोदन करने की प्रवृत्ति होती है अपने इस स्पष्ट स्वभाव के कारण लोग इन्हें पसंद करते हैं अपने नैतिकता से भरपूर विचारों द्वारा यह सभी के हृदय में समा जाते हैं

गुरु ग्रह के प्रभाव वश इनके विचारों में धार्मिकता का समावेश होता है, इस कारण धर्म-कर्म के क्षेत्र में इनको अच्छी उपलब्धियाँ एवं ख्याति प्राप्त होती है

मूलांक 3 के जातक नई खोजों एवं नई स्थापनाओं की चाह में लगे रहते हैं. मूलांक तीन अध्यनशील होकर निरंतर मानसिक खोजों में लिप्त रहते हैं इस कारण विद्या अध्ययन, अध्यापन जैसे बौद्धिक कार्यों मे यह सफलता प्राप्त करते हैं

मानसिक रूप से समृद्ध होते हैं, किसी भी विषय को समझने की इनमें क्षमता बहुत अच्छी होती है, तर्क एवं ज्ञान शक्ति द्वारा यह दूसरों को प्रभावित करते हैं

मूलांक तीन वालों की सामाजिक स्थिति इनकी काफी अच्छी रहती है यह किसी का भी अहित नहीं करते हैं तथा समाज में ये अग्रणी स्थान भी प्राप्त करते हैं स्वभाव से ये शांत, कोमल हृदय, मृदुवाणी एवं सत्यवक्ता होते हैं

मूलांक तीन दैवी गुणों से युक्त माना जाता है इसमें आध्यात्मवादीता तथा आकर्षक स्वभाव होता है. यह हर परिस्थितियों में स्वयं को प्रसन्नचित रखने का प्रयास करते हैं. कितनी ही बाधाएँ आ जाएँ ये विचलित नहीं होते और आत्मविश्वास द्वारा धैर्य एवं शांत चित से कार्य को करते रहते हैं

मूलांक तीन की कमियाँ

तीन का स्वामी गुरु है इस कारण इस मूलांक में अनुशासन के प्रति काफी कठोरता का भाव रहता है और यह शासक जैसे व्यवहार करता है काम में ढील बर्दाश्त नहीं करते अत: अपने इस स्वभाव के कारण इसके अधीन कार्यरत कर्मचारी इनके विरोधी भी बन सकते हैं

कोई भी नया कार्य शुरू करने पर उसे पूर्ण होने से पहले ही ये उसे बीच में ही छोड़ देते हैं. इनकी एक बड़ी कमज़ोरी यह है कि ये असफल नहीं होना चाहते अत: सफलता न मिलने पर यह घोर निराशा में चले जाते हैं और इस कारण आपके कार्य प्रभावित होने लगते हैं अत: इन बातों से बचने की आवश्यकता है

धन का संग्रह इनके लिए कठिन होता है क्योंकि ये लोग खर्च करने पर हजारों रुपये खर्च कर देते हैं इस कारण आवश्यकता पड़ने पर धन की कमी खलती है ओर तकलीफ़ में जीवन व्यतीत करना पड सकता है इसलिए इस बात पर हमेशा ध्यान दें कि ‘तेते पांव पसारिए, जेती लंबी सौरि’, इसके अनुसार कार्य करने पर आप जीवन में सफल और सुखी रहेंगे

मूलांक तीन वालों में नैतिकता व अनुशासन में रहने की चाह होती है इस कारण यह स्वयं अपने नियम व कानून बनाने लगते है तथा इन कानूनो को पालन कराने के लिये अड़ जाते है. इसी कारण झगड़ालू प्रवृत्ति के नही होते हुये भी लोग इन्हें झगड़ालू एवं दुश्मन समझने लगते हैं

मूलांक तीन वाले व्यक्ति बहुत स्वाभिमानी होते है और किसी प्रकार का एहसान लेना इन्हें पसंद नही आता यह स्वतंत्र रहना पसंद करते हैं रोक टोक होने पर क्रोधित हो जाते है

मूलांक तीन वाले शांत स्वभाव होने के बावजूद जल्दबाज़ी में भी खूब रहते हैं और अच्छे स्वभाव के होने के बावजूद कई बार किसी की परवाह किए बगैर खरी बात कह देते हैं। जिससे लोग इनके दुश्मन भी हो सकते हैं

मूलांक तीन में शासन कि प्रवृत्ति होने के कारण यह तानाशाह हो जाते हैं इस कारण दूसरों के लिए दुश्मन बन जाते हैं अपने सदैव के वर्चस्व हासिल करने की प्रवृत्ति पर नियंत्रण रखें. मूलांक तीन वाले जिद्दी भी होते हैं, इन्हें शत्रु और मित्र की पहचान नहीं होती, इस कारण इनके जीवन में गुप्त शत्रु भी हो सकते हैं


उप्पर लिखित जानकारी अनुभवी ज्योतिषियों के शोध का परिणाम है ! ये लेखनी ज्ञान के प्रचार प्रसार के उद्देश्य से यहाँ प्रकाशित की गयी है ! इस जानकारी के प्रमाणिकता का दावा वेबसाइट य प्रकाशक कोई भी नही करता !! ज्योतिष के प्रचार-प्रसार के उद्देश्य से ही सर्वहित के लिए इसे प्रकाशित किया गया है !





लेख पसंद आये है तो शेयर जरुर करे व् अपने विचार जरुर रखे ! व्हाट्सप पर लेटेस्ट पोस्ट पाने के लिए मेसेज करे - 8802939520 पर

सारांश सागर

 Posted By Saransh Sagar

अनुभव को सारांश में बताकर स्वयं प्रेरित होकर सबको प्रेरित करना चाहता हूँ !             


No comments

Powered by Blogger.