ज्ञानसागर परिवार में आपका हार्दिक अभिनंदन है !! किसी भी सुझाव,विचार,विमर्श के लिए संपर्क करे 8802939520


मूलांक 8 का विश्लेषण : ज्योतिष ज्ञानसागर | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

मूलांक 8 का विश्लेषण : ज्योतिष ज्ञानसागर

मूलांक 8 का विश्लेषण : ज्योतिष ज्ञानसागर

मूलांक 8 का स्वामी ग्रह शनि को माना जाता है इस कारण मूलांक आठ के जातकों पर शनि का प्रभाव देखा जा सकता है ।पाश्चात्य मूलांक ज्योतिषियों के मतानुसार भी मूलांक आठ के व्यक्ति शनि के प्रभाव से युक्त होते हैं. 8, 17, 26 तारीखों में जन्मे जातकों का मूलांक 8 होता है।
मूलांक आठ के व्यक्ति शनि के प्रभाव से अपने जीवन में धीरे-धीरे उन्नति प्राप्त करते हैं. व्यवधानों, कठिनाइयों से जूझते हुए सफलता प्राप्त करना इनकी प्रकृति होती है तथा असफलताओं से घबराते नहीं हैं।
मूलांक आठ वाले व्यक्तियों का व्यवहार सहयोग पूर्ण होता है यह मदद करने में तत्पर रहते हैं.मूलांक आठ वालों में मित्रों की सहायता करने की चाह होती है, अपनी यथा शक्ति द्वारा सहयोगियों कि मदद करने का प्रयास करते हैं।

मूलांक आठ की विशेषताएं 

Characteristics of मूलांक  8
बातचीत करने में कुशल तथा तर्क में अच्छे तर्कशास्त्री होते हैं. मूलांक आठ वाले लगन के सच्चे और धुन के पक्के होते हैं, कार्य की पूर्णता एवं सफलता ही इनका लक्ष्य है. व्यक्तित्व की एक विशेषता यह भी है कि जब किसी के मित्र बनते हैं तो हर प्रकार से उसकी मित्रता का फर्ज निभाते हैं।
धन के मामलों में इन लोगों को चिंता की ज्यादा आवश्यकता नहीं होती व्यवसाय या नौकरी में इन लोगों को अच्छा धन प्राप्त होता है, यह धन का उचित प्रकार से उपयोग करते है. धन की बर्बादी नहीं करते सोच समझ कर किफायत के साथ काम करते है इस कारण लोग इन्हें कंजूस भी समझ बैठते हैं।
मूलांक आठ वाले दिखावों से दूर रहते हैं यह ओर किसी भी प्रकार का बाहरी आड़ंबर पसंद नहीं करते, इनके व्यवहार से लोग इन्हें कठोर हृदय का समझने लगते हैं परंतु ऐसा नहीं है मन से मूलांक आठ वाले काफी भावुक एवं दयालु हृदय के होते हैं।
इनका स्वभाव एवं व्यवहार सेवा-भाव वाला होता है किसी भी कार्य में श्रम, त्याग या बलिदान करने से पीछे नहीं हटते और इसी कारण अपनी मंज़िल अवश्य पाते हैं. यह सभी की सहायता करने के लिए सदैव तैयार रहते हैं।
शनि के प्रभाव स्वरूप मूलांक 8 के जातक संघर्षशील एवं परिश्रमी होते हैं तथा समस्याओं एवं विघ्नों को पार करते हुये सफलता को प्राप्त करते हैं इन्हें चाहे सफलता देर से मिले लेकिन वो सफलता स्थायी रूप से प्राप्त होती है।
मूलांक आठ में महत्वाकांक्षा का भाव उच्च होता है यह किसी भी उच्च पद की प्राप्ति इत्यादि के लिए सभी कुछ करने को उद्यत रहते हैं।
मूलांक 8 के व्यक्ति चरमपंथी या अतिवादीता के लक्षण भी दिखाई देते हैं यह जो भी कार्य करते हैं उसे अपनी पूर्ण चेतना शक्ति द्वारा करते हैं. यह जिस भी कार्य को करते हैं उसे पूरी ज़िम्मेदारी के साथ निभाने का प्रयास करते हैं और अपनी जिम्मेदारियों से पिछे नहीं हटते।
मूलांक आठ वाले लोग एकांत प्रिय तथा अंतर्मुखी होते हैं. अन्याय बर्दाश्त नहीं करते तथा इनके अंदर त्याग की भावना अधिक होती है. इस मूलांक वाले जातक अपनी मेहनत के बूते ऊंचाइयां हासिल करते हैं। स्वभाव से ये सरल ह्वदृय व दयालु होते हैं और दूसरे के काम आने में सुख की अनुभूति करते हैं। इसीलिए ये मित्रों के लिए सदैव तत्पर रहते हैं। यहां तक कि मित्रों के लिए परिवार से भी झगड़ा कर बैठते हैं।
आपका जीवन क्योंकि प्रारंभ से ही संघर्षरत रहता है इसलिये प्यार-मोहब्बत के बारे में सोचने का समय आपके पास होता ही नहीं है। अपने जीवन में आप जो भी कुछ प्राप्त करते हैं, स्वयं के बलबूते पर ही करते हैं इसलिये प्रेम संबंधों में ज्यादा करके नीरस ही हो जाते हैं। प्रेम के मामलों में आपके दिमाग में कभी कोई जल्दबाजी नहीं होती है आप सदैव पारंपरिक जीवनसाथी को ही पसंद करते हैं।

मूलांक 8 वाले व्यक्ति अद्ïभुत रहस्यमय स्वभाव वाले तथा अति गूठ चिंतन वाले होते हैं। इनको समझना आसान नहीं है। कब क्या घट जाये पता नहीं चलता। यह अपने कर्म से प्रेम करते हैं। और हर रोज एक नया प्रयोग करते हैं। इसीलिए कार्य क्षेत्र बदलते रहते हैं। लंबे घने बाल, घनी भौंहे, गठीला शरीर तथा कद काठी में लंबे होते हैं। अपने ही ख्यालों में खोये-खोये से रहते हैं। ये कठोर व्रत और नियम वाले तथा गंभीरता से किसी भी बात को लेने वाले होते हैं। जीवन के प्रति इनका दृष्टिïकोण भौतिकवादी होता है। जैसे ऊपर से दिखाई देते हैं भीतर से अंतर्मुखी प्रतिभा के धनी होते हैं। नारियल के फल के समान ऊपर से कठोर परंतु भीतर किसी कोने में स्नेहिल व कोमल वात्सल्य छिपा होता है। जिसे यह प्रकट कम ही करते हैं। ये लोग सांसारिक भोग-विलास में लिप्त होकर भी भीतर से सत्यवक्ता व योगी हो सकते हैं। दर्शन शास में रुचि लेते हैं।
चापलूस, धोखेबाज व लम्मट व्यक्यिों से इनको भीतर से घृणा होती है। संपूर्ण शिष्टïाचार का पालन करते हुए ये अधर्म के प्रति बहुत कठोर होते हैं। इनका व्यवहारिक ज्ञान गहरा होता है। सुख-दुख व संघर्ष का जीवन जीने के कारण कड़े जीवन वाले व्यक्ति होते हैं। पैसे का सदुपयोग करना इनका स्वभाव होता है। सेवा करने से आनंद होता है। 8 मूलांक वाले लोग शनि प्रभाव वाले होते हैं। महत्वपूर्ण कार्य करते हैं।परंतु इनको यश कम मिलता है। सहानुभूति व्यवहार को पसंद करते हैं। समय के पाबंद होते हैं। अपना कार्य पूर्ण करते हैं।यदि किसी लड़की या लड़के का जन्मदिन मूलांक 8 के अंदर आता है तो आपको बता दें कि इस नंबर वाले लोग मेहनती होते हैं। इस मूंलाक वाले अपनी मेहनत पर भरोसा रखते हैं। ये भावुक होते हैं लेकिन व्यावाहरिक भी बहुत होते है। इस नंबर वाले जानबूझकर किसी का दिल नहीं दुखाते हैं। इनकी कोशिश ये ही होती है कि ये किसी को दर्द ना पहुँचाये।
इन्हें हमेशा अच्छे साथ की जरूरत होती है। इनके साथ एक ही कमी होती है और वो ये कि ये इन्हें हर चीज बहुत देर में मिलती है, अपनी मंजिल पाने के लिए इन्हें कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। ये आकर्षक छवि के मालिक होते हैं। चेहरे पर मुस्कान लिए ये हर चीज का सामना बखूबी करते हैं लेकिन ये अक्सर अपनी अच्छाई के कारण ही मारे जाते हैं।
लोग इनका विरोध करना शुरू कर देते हैं। जिसके कारण ये कभी-कभी दुखी रहते हैं। इनका वैवाहिक जीवन भी सुखमय होता है। लोगों को साथ लेकर चलने की प्रवृत्ति इन्हें दूसरों से अलग करती है जिसके चलते ये हर दिल अजीज होते हैं। कुल मिलाकर ऐसे लोगों के संपर्क में हमेशा रहना चाहिए क्योंकि इनके पास आकर आप सुकून महसूस करेगें।
मूलांक 8 वालों की कमियाँ |

मूलांक 8 वाले जातक की खामियां 


मूलांक 8 पर शनि के प्रभाव के कारण ही इस मूलांक वाले को बहुत कठिनाई से जुझना पड़ता है .लोग इन्हें रुखा और कठोर समझते हैं जबकि ऐसा नही है।
मूलांक 8 वाले शंकाकुल या कहें की आशंकित स्वभाव वाले होते हैं. छोटी- छोटी बातों को लेकर निराश हो जाते हैं. अच्छा स्वभाव होने के बावजूद इनमें चालाकी का भाव भी होता है।
मूलांक 8 के व्यक्ति को समझना मुश्किल होता है इनके व्यक्तित्व में गहराई का समावेश होता है. अत:कई बार लोग इन्हें समझने में गलती भी कर जाते हैं।
मूलांक आठ वाले व्यक्ति जब किसी पर क्रोधित हो जाते हैं, तो उन्हें कुछ नहीं सूझता और बदला लेने के लिए के लिए उतावले हो जाते हैं।
मूलांक 8 वालों को चाहिए की एकांत से बचे, क्योंकि एकांत प्रिय होने से इनका मन दुखी और भारी हो सकता है, और निराश के भाव में जा कर यह कुछ गलत कर सकते हैं।
मूलांक आठ के जातक अपनी मेहनत के बूते ऊंचाइयां हासिल करते हैं। स्वभाव से ये सरल ह्वदय और दयालु होते हैं और दूसरे के काम आने में सुख की अनुभूति करते हैं।
बचपन

इस मूलांक के बालक एकांतप्रिय और अन्तमुर्खी होते हैं। शनि से प्रभावित ऎसे बालकों का ह्रदृय कोमल होता है। इनके लिए शनि यंत्र धारण करना शुभकर होता है। इन बालकों में प्रतिस्पर्घा की भावना होती है। आम तौर पर ये स्वस्थ और सुंदर होते हैं।
मूलांक 8 वाले व्यक्तियों का भाग्योदय प्राइवेट नौकरी में, ठेकेदारी, लोहे का काम, मशीन के कलपुर्जे, ब्याज पर लाभ, तेल-तिलहन, प्रोपर्टी में सेल-परचेज, भूमि में खाद, दवाईया आदि के क्षेत्र में लाभ होता है। पेट्रोलियम प्रोडक्टस के क्षेत्र में लाभ होता है। अचानक धन प्राप्ति का योग 8 मूलांक वालों को मिलता है। लाटरी, शेयर मार्किट से लाभ भी इनको कभी-कभी प्राप्त होता है।आठ अंक वाले व्यक्तियों को तेज गति से वाहन नहीं चलाना चाहिये।
इन्हें हमेशा कमर दर्द, सरवाइकल, पेट के रोग, पैरों में दर्द से सावधान रहना चाहिए।
उच्च महत्वपूर्ण पद पर सुशोभित हो सकते हैं। कर्तव्यों को समयानुसार पूर्ण करते हैं।
गणनाओं के अनुसार 21 दिसंबर से 18 जनवरी, 1 फरवरी तक शनि का विशेष प्रभाव 8 मूलांक वालों पर होता है।
तारीख 8, 17, 26 तथा शनिवार के दिन अपना नया काम करें तो शुभ होता है।
गहरा काला नीला आदि रंग शुभता लाते हैं।
4 मूलांक वाले व्यक्तियों से मित्रता होती है।
4, 13, 22वां वर्ष शुभ होता है।
8, 17, 26, 44, 53, 62, 71, 80, 98 आदि वर्ष आपके जीवन के महत्वपूर्ण वर्ष है।
एक महत्वपूर्ण बात

इन्हें हमेशा जीवन के प्रति उदासी, डिप्रेशन, वैराग्य निराशा की भावना से बचना चाहिए। क्योंकि यह इनकी प्रगति में बाधक हैं।मूलांक 8 वालों को अपने दिल में गहरे राज छिपाना दु:खदायी होता है। इसीलिए किसी मित्र को दिल को छूने वाली दु:खद घटना अवश्य कहकर दिल हल्का कर लेना चाहिए।मूलांक 8 वालों अपने पारिवारिक सदस्यों की व्यर्थ आलोचना से बचना चाहिए।सत्य बोले, लेकिन मीठा बोले। विपत्ति के समय मौन रहकर श्री शनिदेव का मंगलकारी मंत्र का जाप करना अनुकूल रहेगा।

उल्लेखनीय व्यक्ति

.संत तुकाराम जी, 2. राजगोपालाचार्य, 3. शेख मुर्जीबुरहमान, 4. माओत्सेतुंग (चीन), 5. जार्ज बर्नार्ड शा
उप्पर लिखित जानकारी अनुभवी ज्योतिषियों के शोध का परिणाम है ! ये लेखनी ज्ञान के प्रचार प्रसार के उद्देश्य से यहाँ प्रकाशित की गयी है ! इस जानकारी के प्रमाणिकता का दावा वेबसाइट य प्रकाशक कोई भी नही करता !! ज्योतिष के प्रचार-प्रसार के उद्देश्य से ही सर्वहित के लिए इसे प्रकाशित किया गया है ! 



ऐसे ही अन्य लेख अपने Gmail अकाउंट में प्राप्त करने के लिए अभी Signup करे और पाये हमारे ताजा लेख सबसे पहले !!


email updates


No comments

Powered by Blogger.