ज्ञानसागर ब्लॉग में आपका हार्दिक अभिनंदन है !! किसी भी सुझाव,विचार,विमर्श के लिए संपर्क करे 8802939520


Ujjwal Patni Positive Thoughts In Hindi | उज्व्व्ल पाटनी के सुविचार | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

Ujjwal Patni Positive Thoughts In Hindi | उज्व्व्ल पाटनी के सुविचार | Gyansagar ( ज्ञानसागर )



 1. मैं आपके जैसा ही आम आदमी हूं। आपका दोस्त हूं ,कभी जीतता, कभी हारता, कभी गिरता ,कभी उठता लेकिन उम्मीदें जिंदा है, डटा हुआ हूं।

2. अपने से बड़े और सफल लोगों से तो हर कोई सम्मान और विनम्रता से पेश आता है। असली श्रेष्ठता तो तब है जब आप सामान्य लोगों से वैसा ही व्यवहार करते हैं।

3. डरिए, घबराइए, हताश होइए ये सब स्वाभाविक है। मगर फिर भी आगे बढ़िए और वो कार्य कीजिए, जिनको करना जरूरी है।

4. सफलता तब मिलती है जब आपके सपने; आप के बहाने से बड़े होते हैं।

5. दूसरों के गलत एवं सही निर्णय से सीखिए। दुनिया में किसी की भी उम्र इतनी लंबी नहीं होती, कि वह हर गलती स्वयं करके स्वयं सीखें।

6. हर व्यक्ति किसी ना किसी क्षेत्र में जीनियस होता है; किसी को जल्दी पता लगता है तो किसी को देर से।

7. हर वक्त स्वयं को एहसास दिलाइए कि आप एक महत्वपूर्ण इंसान है और ईश्वर ने आपको किसी खास मकसद से इस दुनिया में भेजा है।

8. सफलता के लिए जीनियस से कहीं ज्यादा जरूरी, कॉमनसेंस होना।

9. यदि दूसरों को यह लगे कि आप के समय की कोई कीमत नहीं है, तो अगले ही क्षण से वो आप का दुरुपयोग शुरू कर देंगे।

10. यदि जीवन में लोकप्रिय होना है तो सबसे ज्यादा "आप" शब्द का, उसके बाद "हम" शब्द का और सबसे कम "मैं" शब्द का उपयोग करना चाहिए।

11. रुकना मृत्यु है और चलना जिंदगी।

12. बड़े सपनों को कभी छोटी सोच वालो से चर्चा मत करो। जिसकी सलाह मांग रहे हो, उसकी भी इतनी हैसियत होनी चाहिए कि वो बड़े सपनों को समझ सके।

13.  अपने आप को पीड़ित की तरह प्रस्तुत मत कीजिए। मेरा भाग्य खराब है, मेरे साथ ही ऐसा क्यों होता है ? मुझे हमेशा धोखा मिलता है। इन लाइनों का उपयोग इंसान अपनी कमियों को छुपाने के लिए करता है।

14. मृत्यु के बाद अपनी श्रद्धांजलि में क्या सुनना चाहेंगे? जो सुनना चाहेंगे, वैसी ही जिंदगी आज से जीना शुरु कीजिए।

15. मोटिवेशन भोजन की तरह है; एक बार में हजम नहीं होती। अतः बार-बार आपको नियमित अंतराल में मिलनी चाहिए।

16. बिना प्रयास के सिर्फ आप नीचे गिर सकते हैं, ऊपर नहीं उठ सकते। यही गुरुत्वाकर्षण का भी नियम है और जीवन का भी।

17. लोग सोचते ही रह गए और जिंदगी हाथ से निकल गई; कम सोचिए, ज्यादा करिए।

18. औसत टीम एक सुपर Idea को औसत बना सकती है, शानदार टीम एक औसत Idea को सुपर  बना सकती है।

19. अपनी समस्याओं को हर किसी के साथ मत बांटिइए, कोई मीठा बोल रहा है या सहानभूति दिखा रहा है, तो इसका अर्थ यह नहीं है कि वह आपका शुभचिंतक है।

20. मंजिलें पैरों की ताकत से नहीं हौसलों की ताकत से हासिल होती है।

21. कम शिकायतें, कम बहाने और  कम टालमटोल सफलता पाने का यही मूल मंत्र है।

22. लोग आपको आदर नहीं देंगे, जब तक आप स्वयं को आदर नहीं दोगे। लोग आप की कीमत नहीं समझेंगे, जब तक आप अपनी कीमत नहीं समझेंगे। लोग आपकी प्रतिभा नहीं पहचानेंगे, जब तक आप अपनी प्रतिभा नहीं पहचानोगे।

23. यदि बड़ा बनना हो तो स्वयं से कमतर लोगों के साथ संगति करके, boss बनने की बजाय स्वयं से बेहतर लोगों की संगति करना, भले ही कुछ अवसरों पर आपको कम महत्व मिले।

24. यदि कोई कहता है कि उससे कभी कोई गलती नहीं हुई तो समझिए कि उसने कभी कोई नया कार्य नहीं किया।

25. दूसरों को बर्बाद करके बड़ा बनने की सोच रखने से बेहतर है। खुद बड़े हो जाइए, कि दूसरे स्वयं छोटे हो जाएंगे।

26. यदि आप मेरे पास आकर किसी और की बुराई करते हैं, तो मुझे कोई संदेह नहीं कि आप दूसरों के पास जाकर मेरी बुराई करते होंगे।

27. किसी से भी कुछ मांगने से मत हिचकिचाओ, किसी से प्रेरणा मांगो, किसी से अवसर मांगो। याद रखो ,दुनिया में किसी की हैसियत बोलने से ज्यादा की नहीं होती है।

28. हम हमेशा इस बारे में सोचते हैं कि हमारे पास क्या नहीं है। हम इस बारे में बहुत कम सोचते हैं कि हमारे पास कितना है।

29. ज्यादा कहना और ज्यादा सहना दोनों ही नुकसानदायक है।

30. नालेज में किया गया इन्वेस्टमेंट सबसे ज्यादा रिटर्न देता है, क्योंकि सारी समृद्धि वहीं से पैदा होती है।

31. जो मुद्देआपके नियंत्रण से बाहर है, उनकी चिंता से मुक्त हो जाइए। और जो मुझे आपके नियंत्रण में है, उनकी चिंता करने की  बजाय समाधान पर कार्य कीजिए।

32. बड़े निर्णय लेते हुए डरना गलत नहीं है, डर के कारण बड़े निर्णय ना लेना गलत है।

33. किसी भी अच्छी Idea के लिए कोई बुरा वक्त नहीं होता, किसी भी बुरे Idea के लिए कोई भी वक्त अच्छा नहीं होता।

34. किसी का "ना" सुनकर निराश मत होना, कुछ "ना" के बाद "हां" तुम्हारा इंतजार कर रही है।

35. सिर्फ सोच ही इतनी शक्तिशाली होती है जो सही और गलत में भेद कर सकती है, जो व्यक्ति ऊपर उठा सकती है और नीचे गिरा सकती हैं।

36. जीत हो या हार, रहो तैयार।

37. संसार में दो तरह के लोग हैं, वो जो जीवन के हर पल को जिंदादिली से जी रहे हैं। दूसरे वो जो इसलिए जी रहे हैं क्योंकि वह मरे नहीं है।

38. बीते कल से सीखो, आने वाले कल का प्लान करो और आज डटकर जियो।

39. सफलता मुझे घमंड में चूर ना करें और असफलता में मुझ में हीनभावना ना भरे; मैं ऐसी श्रेष्ठता पाना चाहता हूं।

40. जब कोई व्यक्ति कमजोरी, बहानेबाजी, टाइमपास करके यह सोचता है कि वह किसी को बेवकूफ बनाने में सफल हो गया, वह किसी और को नहीं, बल्कि अपनी जिंदगी को बेवकूफ बना रहा है।

41. दूसरों की मदद करते हुए, यदि दिल में खुशी हो तो वही सेवा है बाकी सब दिखावा है।

42. अपने बच्चों को बड़ा gift देने के पूर्व उन्हें कुछ दायित्व सौंपिये और उन्हें तड़पाइए। यदि आप सरलता से हर चीज, उन्हे खरीदेंगे। तो उसका मूल्य कभी समझ नहीं आएगा।

43. जिंदा होने और जिंदादिली होने में बहुत फर्क है।

44. कुछ क्षणो के temporary तनाव से परेशान होकर कोई ऐसा कदम मत उठाइए। जिससे जिंदगी में परमानेंट तनाव हो जाए।

45. जिंदगी में चौके लगाने के लिए मौके का इंतजार मत कीजिए। खुद मौका बनाइए और चौका लगाइए।

46. जीवन में सबसे बड़ी ख़ुशी उस काम को करने में है, जिसे लोग कहते हैं कि तुम नहीं कर सकते हो।

47. जिनके जीवन में कोई सफलता नहीं, ऐसे ज्ञानी की सलाह मानना घातक है।

48. कुछ ऐसा काम करें कि आपके पेरेंट्स अपनी प्रार्थना में कहें हर जन्म में आपके जैसी संतान मिले।



सारांश सागर

सारांश सागर द्वारा प्रकाशित किया गया

अनुभव को सारांश में बताकर स्वयं प्रेरित होकर सबको प्रेरित करना चाहता हूँ !             

No comments

Powered by Blogger.