कोरोना महामारी का आम जन जीवन पर क्या और कैसा असर पड़ा ? | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

कोरोना महामारी का आम जन जीवन पर क्या और कैसा असर पड़ा ? | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

प्रणाम व् नमस्कार !! पहले ही बता देता हूँ उन पाठक मित्रो को जो इस पोस्ट से असहमत हो सकते है !! मै किसी पार्टी के पक्ष लेकर य उनके विरोध के उद्देश्य से ये सब नही लिख रहा बल्कि आम नागरिक जो बातें सोच रहा है उसी को आधार बनाकर यह सब लिख रहा हूँ और सवाल कर रहा हूँ !! कुछ सकारात्मक परिणाम के बारे में चर्चा कर लेते है नही तो अंधभक्त यही समझेंगे कि किसी पार्टी विशेष के दबाव में ये सब लिखा गया है !!
 कुछ गौर करने वाली सकारात्बामक बातों को देखा जाये जिनमे कुछ बातें निम्न है !

  • इस महामारी य बीमारी ने काफी लोगो की बंद बजा दी है साथ ही प्रकृति के लिए ये बीमारी एक वरदान य देवदूत बनकर आया है जिसमे प्राकृतिक वनस्पतियों और संसाधनो का अंधाधुंध उपभोग य शोषण कम ही हुआ है !
  • यमुना,गंगा जैसे कई छोटी बड़ी नदियों का जल साफ होता नजर आ रहा है ! 
  • हवा व् वायु साफ नजर आती नजर आ रही है 
  • कोई नशेड़ी,गंजेड़ी,गुटखा,सिगरेट,तम्बाकू वाले इतने नही है जितने पहले दिखाई दे रहे थे ! 
  • कोई हॉर्न मारने वाले चिक चिक , पिक पिक  नही यानि ध्वनि प्रदूषण एकदम कम !
  • कोई सड़क दुर्घटना नही न ही पार्टी पॉलिटिक्स 
  • कोई शोषण वाली खबरे नही न ही चोरी की खबरे 
अब ऐसे में हमे समझना होगा कि ये बीमारी सिर्फ मनुष्य लोगो के लिए ही खतरा है , कितना खतरनाक है वो मै आप पर छोड़ता हूँ पर प्रकृति के लिए ये एक रक्षक की भूमिका में है !!

सकारात्मक परिणामो की सूचि में और भी बातें है जैसे मै निजी रूप से मांसाहार भोजन नही करता हूँ और इसे ग्रहण करने के काफी दुष्परिणाम को भी जानता हूँ पर चीन से हुए इस बीमारी के बाद जिस तरह ये फैलाया गया कि ये बीमारी मांसाहार भोजन से फैलती है जो एक अफवाह थी उसके बाद देश में लोगो ने अंडे तक खाने बंद कर दिए ! मांसाहार एकदम बंद हो गया और कई मांसाहार वाले व्यापारियों को य तो फ्री में उन्हें बांटना पड़ा य उन्हें जीवित ही मारना पड़ा य नष्ट करना पड़ा ! अंडा तो छोड़िये बाहर के खाने को भी लगभग कम सा कर दिया ! ये अपने आप में आश्चर्य है लेकिन जिस तरह से कोरोना के नाम पर वो भी आदते खत्म हो गयी जिसके लिए बरसों से आँखे तरस रही थी उसके सकारात्मक परिणामो से दिल बहुत खुश है और मेरे दिल की आवाज यही कहती है कि ऐसे कोरोना और हो जाये लेकिन इसके दुष्परिणाम को जब हम देखने जायेंगे तो हमे पता चलेगा कि व्यापारिक लाभ व् कई छोटे-बड़े व्यापारी जो जीवनयापन के साधन हेतु कार्यरत थे उनके धंधे को काफी नुकसान य तो हो गया है य होने वाला है ! कुछ की नौकरी चली गयी है तो कुछ की जाने वाली है !! 

चलिये जानते है कोरोना महामारी और इस बीमारी से होने वाले दुष्परिणाम के बारे में 

मै मांसाहार का पक्षधर नही इसीलिए उसे दुष्परिणाम की गिनती में नही संलिप्त करूँगा पर आशा करता हूँ कि आप उनके इस दुःख को समझेंगे कि क्या बीतती होगी इस समय उनपर और क्या सरकार सहयोग करेगी उन्हें किसी दूसरे व्यापारिक काम के लिए ??

  • पहला है छोटे बड़े स्ट्रीट फ़ूड वाले दुकान य ठेला चलाने वाले व्यापारी य घुमंतू व्यापारी ! 
  • दूसरा जॉब करने वाले लोग और लॉकडाउन के बाद हजारो लोगो की जाने वाली नौकरी !
बाकि आस पास जीतने भी  लोग है उसमे अच्छी बात ये है कि पेट तो सबका किसी न किसी तरह भर ही जा रहा है पर उन व्यापारिक मसलो और स्टॉक में पड़ रहे माल का क्या होगा ? कौन कैसे उसका उपभोग य क्रय - विक्रय करेगा ! कौन खरीदेगा और कौन बेचेगा ! पैसे जब जेब में नही रहेंगे ! दुष्परिणाम काफी है लेकिन कुछ प्रश्न आप सब साझा कर रहा हूँ जो आप सोचियेगा ! 

पहला सवाल -  इस कोरोना महामारी को एअरपोर्ट और विदेशी लोगो के कारण फैलना बताया गया है तो देश के सुरक्षा सलाहकार और सुरक्षा विभाग कहाँ चले गये थे उस वक्त ! क्यों नही उसे सील य उसके सुरक्षा को ढील दी गयी है ! अगर वक्त रहते इसके पुख्ता इंतजार कर लिए होते तो ऐसा न होता !

दूसरा सवाल -कुछ प्रख्यात डॉक्टर व् कुछ देशो के मंत्री,राष्ट्रपति व् मीडिया वालो ने भारत के होमियोपैथी से ठीक होने का दावा किया है और उस पर स्टेटमेंट भी दिया है तो देश की जनता को क्यों आप आयुर्वेद की महिमा और होमियोपैथी के लाभ नही बताते ? 

तीसरा सवाल - कुछ वीडियो बनाने वाले प्रख्यात डॉक्टर जैसे डॉक्टर बिश्वरूप चौधरी के वीडियो क्यों डिलीट किये गये और क्या कारण है ? क्या कोरोना को सामान्य फ्लू बताकर उनका पर्दाफाश करना कोई अपराध है ?

चौथा सवाल - देश की मीडिया क्यों बार बार मास्क के प्रयोग व् हैण्ड वाश के लिए केमिकल लोचा खरीदने की बात करती है लेकिन आपको गोबर के गोयठे,राख , आदि घरेलू नुस्खे व् आयुर्वेद के नुस्खे नही बताती है ! कोरोना बीमारी जरुर है पर इस बीमारी को फ़ैलाने के पीछे सरकारी लापरवाही सबसे बड़ा कारण है ! खैर आपसे अनुरोध है कि टीवी मीडिया के साथ हो सके तो इंटरनेट मीडिया को जरुर देख ले क्योंकि काफी लोग वहां ऐसे पर्दाफाश वाले वीडियो डालते है जिससे आपको काफी कुछ जानने को मिल जायेगा कि कोरोना महामारी एक प्राकृतिक नही बल्कि मानव निर्मित षड्यंत्र है व्यापारिक लाभ य निजी लाभ के लिए य हो सकता है जनसंख्या नियंत्रण भी एक कारण हो य आपको पागल बनाने की साजिश ! खैर हम सरकार के फैसले को मानने का ही आपसे अनुरोध करेंगे और देश की जनता से कामना करेंगे कि आप सभी मीडिया की बातो को भगवान के फैसले जैसे न मानकर क्रॉसचेक अवश्य करे व् सभी चीजो को भगवान जाने के सिद्धांत को जानकर थोड़ा जासूसी वाला काम य सत्कयता की जांच कर ही कोई खबर य न्यूज़ शेयर करे  !! धन्यवाद  
जयश्रीराम 
 Related Posts 



Saransh Sagar



1 Comments

  1. जय हिंद वंदे मातरम् 🙏🙏🙏

    ReplyDelete

Post a comment

Previous Post Next Post