एक सामाजिक चिंतन – आलती पालती भोजन अब क्यों नही कर रहे लोग ? | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

काश शादी समारोह में ऐसे ही आल्थी पालथी मारकर भोजन की व्यवस्था हो नही तो आज सबको जानवर की तरह झूठी प्लेट में ही खाना […]

एक शिक्षाप्रद कहानी – स्त्री तबतक ‘चरित्रहीन’ नहीं हो सकती जबतक कि पुरुष चरित्रहीन न हो। Gyansagar ( ज्ञानसागर )

    Motivational Story In Hindi संन्यास लेने के बाद गौतमबुद्ध ने अनेक क्षेत्रों की यात्रा की। एक बार वे एक गांव गए। वहां […]

क्या दान लेने वाले की फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर सार्वजनिक करना सही है? | सामाजिक चिंतन | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

  मुझे नही पता इन तस्वीर में शामिल लोगो ने अपनी मर्जी से इस तस्वीर को सोशल मीडिया पर डाला है य किसीने गलती से […]

एक सामाजिक चिंतन – जातिवाद की आड़ लेकर फूट | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

बनिया कंजूस होता है, नाई चतुर होता है, ब्राह्मण धर्म के नाम पे बेबकूफ बनाता है, राजपूत अत्याचारी होते हैं, चमार गंदे होते हैं, जाट […]

एक शिक्षाप्रद कहानी – मीठी जलेबी वाले की कड़वी जुबान | Motivational Story In Hindi Gyansagar ( ज्ञानसागर )

आपने जलेबी तो बहुत खायी होगी पर जलेबी खाने के बाद जलेबी वाले की डांट शायद कभी न खायी हो ! हुआ कुछ ये […]