ज्ञानसागर ब्लॉग में आपका हार्दिक अभिनंदन है !! किसी भी सुझाव,विचार,विमर्श के लिए संपर्क करे 8802939520


Motivational Stories

110/सारांश सागर/slider-tag

एक धार्मिक कहानी - हनुमानजी ने बाल्यावस्था में फल समझ कर निगल लिया था सूरज ! | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

4:11 pm 0

परिचय :-  हनुमानजी बल बुद्धि और विद्या से संपन्न है पर उनकी एक और विशेषता थी भोजन। हनुमानजी को भूख बहुत लगती थी। और भूख उनसे सहन नहीं ...

एक सामाजिक चिंतन - बेमतलब का शौक न पाले, हर घर मे बच्चो को माँ के आने का इंतजार रहता है !! | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

2:05 pm 0

बचपन में प्रायः आपने बच्चो को बंदूक और गोली वाले खेल खेलते देखा होगा और शायद गुलेल का नाम भी आपने सुना ही होगा !! पहले कंचे व् त...

क्रांतिकारी कविता - बोलो सत्य है ! सत्य है ! सत्य है ! | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

2:07 am 0

सत्य है ! सत्य है ! सत्य है ! बोलो सत्य है ! सत्य है ! सत्य है ! 1) हाँ ये भीड़ में जो है नेता ! और बाते है इनके गंदे हाँ बन जा ...

मेरे सपनों का भारत - एक नजर | विचार दर्शन | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

12:16 am 0

 मेरे सपनों का भारत -एक नजर भारत खुद में एक समृद्ध सांस्कृतिक विरासत है। विभिन्न जातियों और धर्मों के लोग इस देश में शांति ...

ईश्वर सद्गुणों के संग्रह है, सद्गुण अपनाये बिना पूजा व्यर्थ है - जीवन दर्शन | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

9:19 pm 0

ईश्वर सद्गुणों के संग्रह है ! संग्रह को अपनाया ही नही तो ईश्वर खुश नही होने वाले !! न घंटा बजाने से न कीर्तन करने से और न ही शंख बजाने ...

हे शारदे माँ , हे शारदे माँ ! अज्ञानता से हमे तार दे माँ - प्रार्थना गीत | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

2:12 pm 0

सरस्वती वंदना -   हे शारदे माँ , हे शारदे माँ हे शारदे माँ, हे शारदे माँ, अज्ञानता से हमें तार दे माँ तू स्वर क...

एक सामाजिक चिंतन - बच्चों के मानसिक विकास के लिए खतरनाक है डोरेमन और शिनचैन जैसे कार्टून सीरियल

12:07 pm 0

बच्चों के मानसिक विकास के लिए खतरनाक है डोरेमन और शिनचैन जैसे कार्टून सीरियल   व्यस्त दिनचर्या में हम और आप कहीं न कहीं मनोरंजन का साधन...

Saransh Sagar's Positive Quotes | सारांश सागर के सुविचार | Positive Thoughts | Gyansagar ( ज्ञानसागर )

10:54 am 0

संघर्ष ही सफलता की गाड़ी में गति देने का काम करता है ! अनुभव यही कहता है कि जीवन मे प्रत्येक घटना का अंत मे आत्मचिंतन करके सकारात्मक म...

Powered by Blogger.